देवरिया में ‘जूता कांड’ का भारी विरोध, बाटा गया पर्चा ‘हेलमेट की करो तैयारी, आ गए हैं जूताधारी’

देवरिया लाईव ■ लोकसभा चुनाव 2019 अब अंतिम चरण की ओर बढ़ रहा है। 19 मई को आम चुनाव के लिए सातवें और आखिरी चरण में मतदान होना है। इससे पहले ‘जूता कांड’ से चर्चित हुए संतकबीरनगर से बीजेपी सांसद शरद त्रिपाठी की मुसीबत कम नहीं हो रही हैं। ‘जूता कांड’ के चलते बीजेपी ने उनका टिकट संतकबीरनगर से काट दिया। उनके बदले उनके पिता डॉ. रमापति राम त्रिपाठी को देवरिया से बीजेपी ने अपना प्रत्याशी बना दिया। लेकिन ‘जूता कांड’ देवरिया में भी शरद त्रिपाठी का पीछा कर रहा है। इसका एक नमूना गुरुवार को देवरिया में बंटन वाले पर्चों से दिखा। पर्चों में लिखा है- ‘हेलमेट की करो तैयारी, आ गए हैं जूताधारी’। ये पर्चे रामपति राम त्रिपाठी के विरोध में बांटे गए हैं।

पर्चे का शीर्षक ‘रामपति राम त्रिपाठी का विरोध’ दिया गया है। इस पर्चे में कहा गया है कि सांसद शरद त्रिपाठी ने संतकबीरनगर में मेंहदावल के विधायक राकेश सिंह बघेल के सिर पर एक मिनट में 13 जूता मारने का विश्व रिकॉर्ड बनाया है। संत कबीर नगर के राजपूतों ने इन्हें वहां से भगा दिया। अब उनके पिता अपने जूतों के साथ देवरिया में चुनाव लड़ने आए हैं।’

इस पर्चे में क्षत्रिय समाज से जूते का जवाब लोकतांत्रिक तरीके दिए जाने की अपील करते हुए रमापति राम त्रिपाठी के विरोध में वोट देने की अपील की गई है। यह पर्चा देवरिया जिले में चर्चा का विषय बना हुआ है।

बता दें, संतकबीरनगर के बीजेपी सांसद शरद त्रिपाठी ने 6 मार्च को जिला योजना की बैठक में अपने ही पार्टी के मेंहदावल के विधायक राकेश सिंह बघेल को जूते से पीट दिया। इस पर बीजेपी विधायक राकेश सिंह बघेल ने भरी सभा में श्री त्रिपाठी को जमकर गालियां दी और बाद में उनके समर्थकों ने श्री त्रिपाठी को घेर लिया। प्रशासन ने किसी तरह उन्हें एक कमरे में बंद किया आर सुरक्षा प्रदान की। विधायक समर्थक पूरी रात सैकड़ों की संख्या में कलेक्ट्रेट घेर बैठे रहे। शरद त्रिपाठी को किसी तरह सुरक्षित निकालकर भेजा गया।

Leave a Reply