Breaking News
Home / India / Uttar Pradesh / यूपी में बीजेपी काट सकती है 2 दर्जन सांसदों के टिकट

यूपी में बीजेपी काट सकती है 2 दर्जन सांसदों के टिकट

देवरिया लाइव ■ कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले में 40 आतंकियों की जान जाने से जहां एक ओर सारे देश में मातम है, वहीं अब धीरे-धीरे दूसरी तरफ देश में राजनीति की सुगबुगाहट भी दिखाई देने लगी है। शांत ढंग से ही सही, चुनावी गतिविधियां भी धीरे-धीरे आगे बढ़ रही हैं, खबर है कि भाजपा उत्तर प्रदेश में बड़ी संख्या में मौजूदा सांसदों के टिकट काट सकती है। पार्टी के निचले स्तर से जिन सांसदों की रिपोर्ट अपेक्षाकृत खराब आ रही है, माना जा रहा है कि इस बार उनका टिकट काटना तय है, हालांकि इस पर अंतिम फैसला पार्टी के संसदीय बोर्ड के ही द्वारा किया जाएगा।

सूत्रों की माने तो देवरिया, मथुरा, झांसी, फतेहपुर सिकरी, हरदोई, उन्नाव, फर्रुखाबाद, इटावा, हमीरपुर, इलाहाबाद, बहराइच, डुमरियगंज, राबर्टसगंज, बलिया, सलेमपुर, के सांसदों का टिकट काटना तय है, जबकि कुछ नेताओं के टिकट का फैसला उन पर छोड़ा गया है।

दवेरिया से सांसद कलराज मिश्र को लेकर बहुत दिनों से अटकलों का बाजार गर्म है। लेकिन उनके हरियाणा का प्रभारी बनाए जाने के बाद अब ये साफ हो गया है है कि कलराज मिश्रा देवरिया से चुनाव नहीं लड़ेंगे। वहीं स्थानीय विरोध को देखते पार्टी ने फिल्म अभिनेत्री और मथुरा से सांसद हेमा मालिनी को दोबारा मैदान में नहीं उतारने का फैसला लिया है।

इसी तरह से फतेहपुर सीकरी से सांसद चौधरी बाबूलाल, हरदोई से सांसद अंशुल वर्मा, उन्नाव से सांसद साक्षी महाराज, फर्रुखाबाद से मुकेश राजपूत, राबर्टसगंज से सांसद छोटे लाल का टिकट भी स्थानीय कारणों से काटा जा सकता है। जबकि हमीरपुर से सांसद पुष्पेंद्र चंदेल, इलाहाबाद से श्यामाचरण गुप्त, बलिया से सांसद भरत सिंह, सलेमपुर के सांसद रविन्द्र कुशावाहा से गाहे-बगाहे पार्टी नेतृत्व के खिलाफ बयान देकर टिकट कटने वालों की लिस्ट में अपना नाम डलवा चुके हैं।

बहराइच से सावित्री बाई फुले पहले ही पार्टी छोड़ चुकी हैं, जबकि झांसी से सांसद और केन्द्रीय मंत्री उमा भारती पहले ही चुनाव नहीं लड़ने का ऐलान कर चुकी हैं। खबर ये भी है कि अटल सरकार में मंत्री रहे अशोक प्रधान बीजेपी में वापसी के बाद से सुरक्षित सीट तलाशने में लगे हैं। पार्टी उन्हें इटावा सुरक्षित सीट से लोकसभा का चुनाव लड़ाने पर विचार कर रही है, ऐसे में इटावा से सांसद अशोक दोहरे का टिकट भी खतरे में है।

About ankita tiwari

Check Also

सपा-बसपा गठबंधन के सीट बंटवारे की सूची जारी

देवरिया लाइव ■ लोकसभा चुनाव के लिए उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी और बहुजन समाजवादी …

Leave a Reply