जिले में नौ वर्षों से हुई शिक्षक भर्तियों की जांच शुरू – फर्जी शिक्षकों की अब खैर नहीं…..

देवरिया लाइव ■  जनपद में वर्ष 2010 से अब तक हुई शिक्षक भर्ती प्रक्रिया की जांच शुरू कर दी गई है। इससे फर्जी प्रमाण पत्रों के सहारे नौकरी करने वालों के फर्जीवाड़े का खुलासा होने की उम्मीद है। शासन स्तर से गठित त्रिस्तरीय समिति ने बीएसए से अब तक हुई नियुुक्तियों का पूरा ब्योरा मांगा है।जिला प्रशासन की नई पहल से नकली दस्तावेजों के सहारे नौकरी हासिल करने वाले शिक्षकों की नींद उड़ गई है। जांच की आंच में झुलसने वाले अपनी गर्दन बचाने की तैयारी में जुटे हुए हैं।

Leave a Reply