यूपी से ट्रक हो गया पार, बार्डर पर बिहार पुलिस ने पकड़ी 300 पेटी शराब

देवरिया लाईव ■ जिले के लार थाना क्षेत्र के मेहरौना चेकपोस्ट पर भले ही चौकसी चौबीस बढ़ा दी गई है, लेकिन देवरिया पुलिस शराब तस्करी रोकने में विफल हो रही है। अभी रात का ही मामला था। देवरिया के मेहरौना के रास्ते बिहार में प्रवेश कर रही अरुणाचल प्रदेश निर्मित 300 पेटी शराब लदे एक ट्रक को बिहार की गुठनी पुलिस ने पकड़ लिया। शराब की कीमत 20 लाख रुपये बताई जा रही है। इस मामले में पुलिस ने मुकदमा पंजीकृत कर चालक को गिरफ्तार कर लिया।

पड़ोसी प्रांत बिहार में शराब पर पाबंदी लगने के बाद यूपी के रास्ते शराब की तस्करी बड़े पैमाने पर हो रही है। खासतौर से इसके लिए सबसे सुरक्षित जिले कुशीनगर और देवरिया हैं। इन्हीं दोनो जिलों से होकर शराब बिहार में जाती है।

बिहार के सिवान जनपद के गुठनी थाने की पुलिस यूपी-बिहार बार्डर से सटे श्रीकलपुर चेकपोस्ट पर रात में चेकिग कर रही थी। इस बीच एक ट्रक को देवरिया पुलिस ने पास कर यूपी बार्डर के पार करा दिया। ट्रक मुश्किल से 100 मीटर दूर गया होगा, तभी बिहार की श्रीकलपुर पुलिस ने उसे रोक लिया। पुलिस ने ट्रक की तलाशी ली तो अरुणाचल प्रदेश की 300 पेटी शराब लदी थी। यह देख पुलिस ने ट्रक चालक सुंदर पुत्र किशन निवासी हरियाणा को गिरफ्तार कर लिया। पूछताछ में उसने बताया कि उससे कहा गया था कि ट्रक में पशुओं का दाना लदा है। गुठनी पुलिस के उप निरीक्षक हरिवंश यादव ने बताया कि पूछताछ चल रही है। जल्द ही शराब के सरगना को भी गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

तो क्या एसपी के आदेश को दिखा दिया ठेंगा

बिहार बार्डर पर पुलिस अधीक्षक डा.श्रीपति मिश्र ने शराब की तस्करी रोकने के लिए अतिरिक्त पुलिस तैनात किया है। बीती रात उपनिरीक्षक रंजय कुमार, कांस्टेबल सत्यपाल यादव, शिवचंद्र कुमार व होमगार्ड अर्जुन चौहान की चेकिग ड्यूटी थी, ऐसे में शराब लदा ट्रक कैसे बार्डर पार कर गया? यह पुलिस की मिलीभगत से हुआ या फिर कप्तान के आदेश को ठेंगा दिखाकर पुलिस सो रही थी। अब देखना है कि एसपी देवरिया ऐसे लापरवाह पुलिस कर्मियों के खिलाफ क्या कार्रवाई करते हैं?

Leave a Reply